Sunday, 22 June 2014

मुस्कराहटें - राकेश रोहित

वो कहते हैं कहने से बात नहीं बनती,
हमने मुस्कराहटों से मंजर बदलते देखा है!

Wednesday, 18 June 2014

जो मन को गा लेगा - राकेश रोहित

कितना अधिक अँधेरा है
इस निर्जन में, इस मन में!
जीवन का गीत वही लिखेगा
जो मन को गा लेगा।